support@dalhangyanmanch.res.in

पोषक तत्व प्रबंधन
उर्वरक का प्रयोग मृदा परीक्षण के अनुरूप करना चाहिए। उर्द की फसल को नत्रजन की अधिक आवश्यकता नहीं होती क्योंकि ये स्वयं वायुमण्डलीय नत्रजन का स्थिरीकरण करने में सक्षम है। जिससे भूमि में में नत्रजन की मात्रा बढ़ जाती है और फसल इसका आसानी से उपयोग कर अच्छी उपज देती है। उर्द की फसल में 15 कि.ग्रा. नत्रजन, 45 कि.ग्रा. फास्फोरस तथा 20 कि. ग्रा. गंधक तथा 20 किग्रा पोटाश प्रति हेक्टेयर की दर से बुवाई के समय कूडों में देना चाहिए।